Category Archives: Contributions

राजरानी रणचंडी भवानी महारानी ताराबाई भोसले

पूजा चौहान का लेख हमारे देश के इतिहास में जब भी किसी बहादुर महिला का नाम लिया जाता है तो हमें सबसे पहले रानी लक्ष्मीबाई की याद आती है पर भारत के इतिहास के स्वर्णिम पन्नों में ना जाने कितनी ही वीरांगना हुई हैं जिन्होंने अपने अदम्य साहस और बुद्धिमत्ता से इस देश को हमेशा सर्वोच्च स्थान दिलाया है। उन्ही

Read more

वीर बाला – एक शहीद की याद

पूजा चौहान द्वारा लिखी एक कविता स्त्री हर युग में शक्ति पुंज थी। जब मातृभूमि की रक्षा करते हुए वो वीर सैनिक अपना सर्वोच्च बलिदान देकर अमर हो जाता है उस समय भी ये शक्ति अपने आप को ज्योतिर्मय करके सम्पूर्ण जीवन उन सुंदर पलों के साथ व्यतीत कर देती है जो अब उसकी जमा पूँजी हैं और हर क्षण

Read more

Jimmy…

Story by Gautam Kalra (aged 14 yrs) Blood everywhere, escaping from the insides of the woman, she had a knife in her hand. It was clearly a suicide. The overweight senior detective named Jimmy says “little gory right!!”, to the new detective named Pat while shamelessly chewing a hamburger. The junior detective replies “Yes it really is, would you please

Read more

परिंदे कब पिंजरे में हैं रहते

शैली कपिल कालरा द्वारा लिखी कविता देखा है परिंदों कोपिंजरों में कैद होते हुएआसमान को देखतेऔर रुकसत होते हुए पिंजरे तो अक्सर हम हैं बनातेउम्मीद के पर भी ….हम हैं काटतेफिर दोष है कैसेसृष्टि का या क्रमों का परिंदे हैंउड़ान भरने के लिएना कल रुकेना रुकेंगे आज छूने आए आसमानछूकर ही जाएँगे परिंदे कब पिंजरे में हैं रहतेआज हैं अगरकल

Read more

A Pseudo Secular Rhetoric – With Lots of Love from Bollywood.

Article written by Shilpa Nadkarni Many of us grew up fantasizing about the glamorous, glittering, stars, heroes/ heroines of the famous Bollywood during the teenage era. Bollywood has always been successful in leaving an impact on styling, lifestyle and many more things that one would aspire about. I still remember whenever a movie used to release be it Dewaar, Sholay,

Read more
« Older Entries