कोरोना वायरस पर सद्गुरु के सुझाव.

प्रेरणा मेहरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित।  ऐसे वक़्त में जब सारा संसार ही कोविद-19 के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है.ऐसे में देखते है कि हमारे माननिये आध्यात्मिक गुरु श्री सद्गुरु जी … Read More

परमपावन दलाई लामा.

प्रेरणा मेहरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित। दलाई लामा तिब्बती बौद्ध धर्म के अग्रणी आध्यात्मिक नेता के लिए तिब्बती लोगों द्वारा दिया गया एक शीर्षक है। 14 वें और वर्तमान दलाई लामा … Read More

वैसाखी की शुभकामनाएं।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित. वैसाखी हर साल पारम्परिक रूप से 13 या 14 अप्रैल को मनाया जाता है। वैसाखी पंजाब के लोगों के लिए फसल कटाई का त्योहार है। … Read More

सकारात्मक सोच सफलता का मूल मत्र है।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित नकारात्मक स्थितियों से सफलता के साथ निपटना इतना आसान नहीं। दुर्भाग्य से, समस्याएं आपके काम और व्यक्तिगत जीवन दोनों में आती हैं। हालांकि, सकारात्मकता पर … Read More

हनुमान जयंती

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित. हनुमान जयंती भगवान हनुमान के जन्म के उपलक्ष्य में मनाई जाती है जिन्हें भगवान शिव के अवतारों में से एक के रूप में भी जाना … Read More

भगवान महावीर और उनके पाँच व्रत।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित। भगवान महावीर जैन धर्म के चौंबीसवें तीर्थंकर है।तीस वर्ष की आयु में महावीर ने मोह माया, राज वैभव त्याग दिया और संन्यास धारण कर आत्मकल्याण … Read More

श्री गुरु नानक देव जी का दिव्य ज्ञान.

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित. गुरु नानक, जिन्हें बाबा नानक (‘पिता नानक’) के रूप में भी जाना जाता है, सिख धर्म के संस्थापक और दस सिख गुरुओं में से पहले … Read More

देवी दुर्गा के नौ रूपों का वर्णन।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित. या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥ जो देवी सब प्राणियों में शक्ति रूप में स्थित हैं, उनको नमस्कार, नमस्कार, बारंबार नमस्कार … Read More

परमेश्वर यीशु के दिए दिव्य ज्ञान को समझे।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित. यीशु परमेश्वर के पवित्र पुत्र थे। वह सत्य का मार्ग और क्षमा की शिक्षा देने के लिए धरती पर आये थे। यीशु नाम से ही … Read More

शिरडी साईं बाबा आज भी हमारे समीप है।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित . “दुनिया में क्या नया है? कुछ भी तो नहीं। दुनिया में क्या पुराना है? कुछ भी तो नहीं। सब कुछ हमेशा यही तो रहा … Read More