Category Archives: हिंदी

गूगल ट्रांसलेट में संस्कृत सहित आठ भारतीय भाषाओं को अनुवाद के लिए जोड़ा गया है

पूजा चौहान का लेख गूगल ट्रांसलेटर आज व्यापक रूप से उपयोग में लाया जाता है, परन्तु अभी तक इसमें संस्कृत भाषा नहीं थी। गूगल ट्रांसलेट में संस्कृत सहित आठ भारतीय भाषाओं को अनुवाद के लिए जोड़ा गया है। गूगल ने संस्कृत के अलावा डोंगरी, आसामी, भोजपुरी, कोंकणी, मैथिली, मीजो और मणिपुरी को गूगल ट्रांसलेट में जोड़ा है। इन 8 भाषाओं

Read more

जल ही जीवन है, जल बिन जीवन संभव नहीं

रंजू गुप्ता द्वारा लिखी कविता सेव वाटर ,सेव एनर्जीकब तक करते रहेंगे अपनी मनमर्ज़ीजल को वयर्थ न गँवायअब तो अपनी चेतना को चेताय पूर्वजों से मिला है जो खज़ानाक्यों इसको व्यर्थ में लुटानाजल नहीं है रिन्यूएबल रिसोर्सबेकार न करे एक भी ड्रॉपपानी नहीं बचाएगेंतो आने वाली पीढ़ी को क्या दे जाएगें प्रकृति का क़र्ज़ चुकाना हैअपने हिस्से का जल ही

Read more

राजरानी रणचंडी भवानी महारानी ताराबाई भोसले

पूजा चौहान का लेख हमारे देश के इतिहास में जब भी किसी बहादुर महिला का नाम लिया जाता है तो हमें सबसे पहले रानी लक्ष्मीबाई की याद आती है पर भारत के इतिहास के स्वर्णिम पन्नों में ना जाने कितनी ही वीरांगना हुई हैं जिन्होंने अपने अदम्य साहस और बुद्धिमत्ता से इस देश को हमेशा सर्वोच्च स्थान दिलाया है। उन्ही

Read more

मुझे जीने दो …

शैली कपिल कालरा द्वारा लिखी एक कविता तेज बारिशचादर से ढक कर लायीमुझे है दाईमाँ के पास रखते हुए बोलीतूने लड़की है जनाईमैं निडरअनजानमाँ की गोद में निश्चिंत ! कुछ ख़ुशी कुछ ग़ममाँ के छलकते आँसू,फिर बोलीतू छोटी नन्ही सी मेरी जानरखती हूँ जन्नत तेरा नाम पाँवों की आहटदरवाज़े पर दस्तकतेरे बाबा हैं शायद* पर तेरे बाबाक्या कहेंक्या करेंपता नहीं

Read more

शहीद की अनोखी विदाई

पूजा चौहान का लेख कुछ घटनाएं जीवन में साहस को नयी परिभाषाएं देती हैं। हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले के घुमारवीं क्षेत्र के सैऊ निवासी 21 वर्षीय अंकेश भारद्वाज, अरुणाचल के कामेंग सेक्टर में 6 फरवरी 2022 को हिमस्खलन की चपेट में आये सात जवानों में शामिल थे। बलिदानी अंकेश भारद्वाज की पार्थिव देह घर पर जब पहुंची तो घर

Read more

वीर बाला – एक शहीद की याद

पूजा चौहान द्वारा लिखी एक कविता स्त्री हर युग में शक्ति पुंज थी। जब मातृभूमि की रक्षा करते हुए वो वीर सैनिक अपना सर्वोच्च बलिदान देकर अमर हो जाता है उस समय भी ये शक्ति अपने आप को ज्योतिर्मय करके सम्पूर्ण जीवन उन सुंदर पलों के साथ व्यतीत कर देती है जो अब उसकी जमा पूँजी हैं और हर क्षण

Read more

राब्दा

शैली कपिल कालरा द्वारा लिखी एक कविता दर बदर भटकते रहेमंज़िल लम्बी है अभीफ़िक्र थीडर भी था बहुत तलाश में किसी कीऔर ज़िक्र तेरा … हुआ राब्दामेरी रूह का तुझसेतो जाना मंज़िलदूर ही सहीपर सुकून हैतू साथ है।

Read more

भारत की वीर गाथा

अनुजना शेट्टी द्वारा लिखी एक कविता जो कहलाती थी कभी सोने की चिड़ियां,बांधी गई थी जिसपे गुलामी की बेड़िया। जहां के वीर जवानों ने न्योछावर कर सब कुछ अपना,केसरी रंग से पूरा किया है स्वराज का सपना। जहां बिना किसी भेद-भाव सब आए एक साथ,शौर्य और पराक्रम से दी विदेशियों को मात। जिसपे हैं मुझे गर्व, हैं जिसके अस्तित्व से

Read more

नेताजी सुभाष चंद्र बोस – एक अविस्मरणीय घटना

पूजा चौहान का लेख नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म कटक उड़ीसा के नामी वकील जानकीनाथ बोस के यहां 23 जनवरी 1897 में हुआ। उनकी माता जी का नाम प्रभावती बोस था । वे बचपन से ही मेधावी छात्र थे उनके पिता जानकीनाथ बोस उन्हें ICS( इंडियन सिविल सर्विसेज) का ऑफिसर बनाना चाहते थे। उन्होने 1916 मे उन्होंने कोलकाता के

Read more

मानवता की अद्वितीय मिसाल

पूजा चौहान का लेख मौसमी मोहंती, उड़ीसा भद्रक के मंदारी गांव निवासी, ने अपनी अच्छी आर्थिक स्थिति ना होने के बाद भी, समाज में मानवता की अद्वितीय मिसाल प्रस्तुत की है। महज शादी के 8 दिनों के बाद, मौसमी के पति, अभिषेक महापात्र (28) को कोरोना हो गया। उसे 13 मई 2021 को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्हे फेफड़ों

Read more
« Older Entries