Author Archives: पूजारवि

राजरानी रणचंडी भवानी महारानी ताराबाई भोसले

पूजा चौहान का लेख हमारे देश के इतिहास में जब भी किसी बहादुर महिला का नाम लिया जाता है तो हमें सबसे पहले रानी लक्ष्मीबाई की याद आती है पर भारत के इतिहास के स्वर्णिम पन्नों में ना जाने कितनी ही वीरांगना हुई हैं जिन्होंने अपने अदम्य साहस और बुद्धिमत्ता से इस देश को हमेशा सर्वोच्च स्थान दिलाया है। उन्ही

Read more

शहीद की अनोखी विदाई

पूजा चौहान का लेख कुछ घटनाएं जीवन में साहस को नयी परिभाषाएं देती हैं। हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले के घुमारवीं क्षेत्र के सैऊ निवासी 21 वर्षीय अंकेश भारद्वाज, अरुणाचल के कामेंग सेक्टर में 6 फरवरी 2022 को हिमस्खलन की चपेट में आये सात जवानों में शामिल थे। बलिदानी अंकेश भारद्वाज की पार्थिव देह घर पर जब पहुंची तो घर

Read more

वीर बाला – एक शहीद की याद

पूजा चौहान द्वारा लिखी एक कविता स्त्री हर युग में शक्ति पुंज थी। जब मातृभूमि की रक्षा करते हुए वो वीर सैनिक अपना सर्वोच्च बलिदान देकर अमर हो जाता है उस समय भी ये शक्ति अपने आप को ज्योतिर्मय करके सम्पूर्ण जीवन उन सुंदर पलों के साथ व्यतीत कर देती है जो अब उसकी जमा पूँजी हैं और हर क्षण

Read more

नेताजी सुभाष चंद्र बोस – एक अविस्मरणीय घटना

पूजा चौहान का लेख नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म कटक उड़ीसा के नामी वकील जानकीनाथ बोस के यहां 23 जनवरी 1897 में हुआ। उनकी माता जी का नाम प्रभावती बोस था । वे बचपन से ही मेधावी छात्र थे उनके पिता जानकीनाथ बोस उन्हें ICS( इंडियन सिविल सर्विसेज) का ऑफिसर बनाना चाहते थे। उन्होने 1916 मे उन्होंने कोलकाता के

Read more

मानवता की अद्वितीय मिसाल

पूजा चौहान का लेख मौसमी मोहंती, उड़ीसा भद्रक के मंदारी गांव निवासी, ने अपनी अच्छी आर्थिक स्थिति ना होने के बाद भी, समाज में मानवता की अद्वितीय मिसाल प्रस्तुत की है। महज शादी के 8 दिनों के बाद, मौसमी के पति, अभिषेक महापात्र (28) को कोरोना हो गया। उसे 13 मई 2021 को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्हे फेफड़ों

Read more

साहस व सूझबूझ -‘योगिता सातव’।

पूजा चौहान का लेख पुणे: महाराष्ट्र के पुणे में एक 42 वर्षीय महिला ने महिलाओं और बच्चों को ले जा रही एक मिनी बस को अपने नियंत्रण में उस वक्त ले लिया जब उसका ड्राइवर अचानक ही दिल का दौरा पड़ने से मूर्छा में जाने लगा। 7 जनवरी को हुई इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो

Read more

अलख

पूजा चौहान द्वारा लिखी एक कविता जीवन की रुनझुन आभा ने,स्वप्नों को बस छेड़ा है। आज मधुरमय जीवन ने,अंतर्मन को यूं छुआ है।अभिलाषा आकांक्षाओं ने,फिर से नाता जोड़ा है॥ जीवन रथ गतिमय रखने को,फिर साहस हमने पाया है।सतरंगी ऊर्जा प्रवाह ने,हृदय में अलख जगायी है॥ उम्र की यह दूजी पारी,अब फिर से यौवन लायी है।जीवन रश्मि का यह उपहार,अब नयी

Read more