प्रिंस चार्ल्स ने वैसाखी संदेश में कोविद -19 की लड़ाई में ब्रिटिश-सिखों की प्रशंसा की।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित, शाहिद की जानकारी पर आधारित.

प्रिंस चार्ल्स ने सोमवार को यूके में सिख समुदाय को अपना “लख लख वधाईयां” संदेश देने के लिए एक वीडियो संदेश जारी किया और वैसाखी के अवसर पर राष्ट्रमंडल में कोरोनवायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में ब्रिटिश-सिख समुदाय की “निस्वार्थ सेवा” की प्रशंसा की।

71 वर्षीय ब्रिटिश सिंहासन के उत्तराधिकारी,जो पिछले महीने अपने COVID-19 संक्रमण से उभरे, उन्होंने कहा कि वह केवल इस “बड़े दुख” की कल्पना ही कर सकते है,क्योंकि वैसाखी को सामान्य तरीके से नहीं मनाया जा सकता है इसलिए उन्होंने सिख समुदाय द्वारा संकट की घड़ी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की प्रशंसा की।

“इस चुनौतीपूर्ण समय में, सिख समुदाय इस देश के लिए और इसके अन्य कई लोगों के लिए अपना असाधारण और अमूल्य योगदान दे रहा है , जैसा कि उन्होंने हमेशा किया है,” उन्होंने अपने संदेश की शुरुवात “वाहेगुरु जी का खालसा” , वाहेगुरु जी की फतेह ” से की।

प्रिंस द्वारा सिखों को “खुश, सुरक्षित और शांतिपूर्ण” वैसाखी की शुभकामनाएं दी गई।जिसमे वहां त्योहार के रूप में सब खालसा जी के जन्म का जश्न मानते है और इन चुनौतीपूर्ण समय में एक-दूसरे के समर्थन करने के लिए अलग-अलग धर्म समुदायों के भी होकर एक साथ काम करने पर चर्चा करते है।

अपने क्लेरेंस हाउस कार्यालय द्वारा जारी संदेश में, उन्होंने कहा: “यूनाइटेड किंगडम में, सिख इस संकट के समय में काफी जगह अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं, चाहे अस्पतालों में या अन्य महत्वपूर्ण भूमिकाओं में या उल्लेखनीय काम के माध्यम से गुरुद्वारों द्वारा स्थानीय समुदायों और सबसे कमजोर लोगों का समर्थन करने के लिए आगे आ रहे है।

उन्होंने कहा कि इस समय में, मुझे ऐसा लगता है कि सिखों ने बहुत अच्छे तरीके से उन मूल्यों को अपनाया है जिन पर गुरु नानक ने पांच शताब्दियों पहले अपने धर्म की स्थापना की थी।कड़ी मेहनत, सम्मान और निस्वार्थ सेवा वह लगातार उन लोगो के प्रति कर रहे है जो इस संकट की घड़ी में खुदको सँभालने में सक्षम नहीं है।” उन्होंने कहा कि वह और उनकी पत्नी, कैमिला – डचेस ऑफ कॉर्नवाल, सभी सिख समुदाय के “उत्कृष्ट प्रयासों” के लिए आभारी हैं।

उन्होंने कहा “ऐसे समय में, मुझे पता है कि आप में से कई लोग इस खतरनाक वायरस के क्रूर प्रभावों से व्यक्तिगत रूप से पीड़ित हैं, या दुखद रूप से उन लोगों को खो दिया है जिन्हें आप प्यार करते हैं। मैं केवल इतना कह सकता हूं कि मेरा दिल इतनी कठिन परिस्थितियों में आपके लिए मंगल कामना करता है।

वैसाखी को इस साल यूके के विभिन्न हिस्सों में परंपरागत बड़े समारोहों और मेलों के साथ नहीं मनाया जाएगा, क्योंकि समुदाय को कोरोनोवायरस महामारी के बीच सभी आयोजन को रद्द करने और सुरक्षित रहने का आग्रह किया गया है।

अगले शनिवार के लिए निर्धारित ट्राफलगर स्क्वायर में आयोजित स्क्वायर पर लंदन की वार्षिक वैशाखी का आयोजन रद्द कर दिया गया है।

ब्रिटेन की सबसे बड़ी सिख आबादी वाले शहरों में से एक, बर्मिंघम में हैंड्सवर्थ पार्क में आयोजित एक वैसाखी कार्यक्रम, लॉकडाउन के बीच रद्द कर दिया गया, इसके साथ ही लीसेस्टर, साउथॉल और ग्रेवसेंड के समारोहों को भी रद्द कर दिया गया।

वार्षिक वैसाखी के अवसर पर होने वाले नगर कीर्तन के रूप में रंगारंग जुलूस,लंगर ,पारंपरिक सिख मार्शल आर्ट, सांस्कृतिक गतिविधियों आदि का आयोजन तालाबंदी के कारण रद्द कर दिया गया और इसके स्थान पर कमजोर लोगों की मदद के लिए सामुदायिक सेवा पर ध्यान केंद्रित कर दिया गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: