आईएमएफ ने रघुराम राजन को मुख्य सलाहकार पैनल में शामिल किया.

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित, मीता कपूर की जानकारी पर आधारित.

वाशिंगटन: आईएमएफ की एमडी क्रिस्टलीना जॉर्जीवा ने शुक्रवार को आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन और 11 अन्य लोगों को उनके एक्सटर्नल एडवाइजरी समूह में शामिल करने की घोषणा की।

57 वर्षीय श्री राजन, जो सितंबर 2016 तक तीन साल के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर थे, वर्तमान में शिकागो के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के रूप में कार्यरत हैं।

सुश्री जॉर्जीवा ने कहा कि कोरोनवायरस द्वारा लाए गए आर्थिक और वित्तीय व्यवधानों से पहले भी,अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के सदस्यों ने तेजी से विकसित होने वाले विश्व और जटिल नीतिगत मुद्दों का सामना किया।

उसने कहा कि “इस संदर्भ में हमारी सदस्यता को अच्छी तरह संभालने के लिए, हमे विशषज्ञों का समूह बनाना है, जो इस समस्या के निदान में मदद कर सके।

आईएमएफ के प्रबंध निदेशक ने कहा मुझे गर्व है कि उच्च-स्तरीय नीति, बाजार और निजी क्षेत्र के अनुभव वाले एक असाधारण और विविध समूह ने मेरे एक्सटर्नल एडवाइजरी समूह की सेवा करने के लिए सहमति व्यक्त की है। आज हमने उनके विचार जानने के लिए और हमारे विचारों और दृष्टिकोणों के लिए अनौपचारिक प्रतिक्रियाएं प्राप्त करने के लिए एक गतिशील चर्चा की.

समूह के अन्य सदस्य है- थरमन शनमुगरत्नम, जो सिंगापुर के वरिष्ठ मंत्री और सिंगापुर के मौद्रिक प्राधिकरण के अध्यक्ष हैं; क्रिस्टिन फोर्ब्स जो मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में प्रोफेसर है। केविन रुड जो ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधान मंत्री है, लॉर्ड मार्क मैलोच ब्राउन जो संयुक्त राष्ट्र के पूर्व उप-महासचिव है।

कोरोनावायरस महामारी ने 96,000 से अधिक लोगों की जान ले ली है और 193 देशों और क्षेत्रों में 1,605,000 से अधिक संक्रमित हैं और यह पहली बार दिसंबर में चीन में उभरा था।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s