कोविद-19 -संगरोध सुविधाएं स्थापित करने के लिए सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC) ने गुरूद्वारे में जगह की पेशकश की।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित.

नई दिल्ली: दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) ने सोमवार को गुरुद्वारा मजनूं का टीला में दिल्ली सरकार को एक संगरोध और अलगाव केंद्र की सुविधा स्थापित करने के लिए एक सराय की पेशकश की।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लिखे पत्र में डीएसजीएमसी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि सराय में आधुनिक सुविधाओं के साथ 20 कमरे, शौचालय, एयर कंडीशनर और नर्सों के लिए अलग कमरे और डॉक्टर भी उपलब्ध कराए जा सकते हैं, जिससे अधिक से अधिक मरीजों को सुरक्षित वातावरण में रहने दिया जा सके।

सिरसा ने कहा कि “गुरुद्वारा परिसर में पर्याप्त पार्किंग भी है, जो इसे एक सुरक्षित वातावरण बनाता है,” । उन्होंने यह भी कहा कि गुरुद्वारा उपचार या संगरोध के लिए भर्ती, हर मरीज के साथ साथ उनकी सुविधा में तैनात स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए भी लंगर (मुफ्त भोजन) प्रदान कर सकता है. यह कमेटी पहले से ही जरूरतमंदों व कोरोना वायरस से प्रभावित लोगो को भोजन प्रदान कर रही है।

सिरसा ने यह भी कहा कि वे 10 लाख भोजन पैकेट भी प्रदान कर सकते हैं, जिसे जरूरतमंदों को वितरित किया जा सकता है।

उन्होंने यह भी कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए सक्रिय कदम उठाए जा रहे हैं कि प्रत्येक गुरुद्वारे को नियमित रूप से साफ किया जा रहा है या नहीं और लंगर तैयार करने या इसे परोसने वालों को बीमारी से फैलने से बचाने के लिए नियमित रूप से हाथ धोने और मास्क पहनने के लिए भी कहा जा रहा है।

Leave a Reply