घर पर बने पैड के साथ मासिक धर्म स्वच्छता का प्रचार।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित, शाहिद की जानकारी पर आधारित

मदुरै: मासिक धर्म स्वच्छता और सुरक्षित सैनिटरी पैड के उपयोग के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए, मदुरै के टी कन्नम्मा ने नॉन बायोडिग्रेडेबल पैड, जिसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं, के विकल्प के रूप में कॉटन सेनेटरी नैपकिन बनाना शुरू किया

कन्नम्मा,अय्यर बंगले की एक होममेकर ने टीओआई(TOI) को बताया कि “मेरे पति एक घर-निर्मित खाद्य उत्पाद व्यवसाय चलाते हैं और मैं स्वैच्छिक सेवाओं में शामिल थी, जब मैं स्वस्थ जीवन जीने के लिए जड़ी-बूटियों और प्राकृतिक तत्वों का उपयोग करने के बारे में सीखने के लिए बढ़ती थी तो इसके द्वारा मैं प्रकृति आधारित सैनिटरी नैपकिन बनाने की कोशिश करने के लिए प्रेरित हुई क्योंकि यह भी भोजन और पानी की भांति जीवन के लिए महत्वपूर्ण है। मैंने कुछ शोध किया और इस अंतिम उत्पाद के साथ आई। 42 वर्षीय होममेकर की ‘Paruthi Pen Mooligai नैपकिन’ पूरी तरह से कॉटन आधारित डिस्पोजेबल सैनिटरी नैपकिन है जो मुख्य शोषक के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाले सर्जिकल कॉटन के साथ 4-6 घंटे तक रहता है.

“कन्नम्मा ने कहा कि एक विशिष्ट नैपकिन में बाहरी सूती कपड़े से बनी एक बाहरी परत होती है, दूसरी शुद्ध सूती कपड़े की दूसरी अतिरिक्त परत, एंटी-बायोटिक एजेंटों के साथ एक तीसरी सर्जिकल कॉटन शोषक परत, चौथी परत के रूप में एक कपड़ा कैनवास और पेपर कैनवास से बना एक अंतिम अंडरलेयर होता है जिससे ये मज़बूत बनता है. “सभी के माहवारी के अपने अद्वितीय अनुभव होते है। इसलिए, मेरे लिए मुख्य ध्यान सीधे सेवा के उद्देश्य के साथ ग्राहकों तक पहुंचना था। मैंने हमेशा उनकी जरूरतों का पता लगाने के लिए उन्हें एक परीक्षण पैड दिया। जब मैंने उनसे बातचीत की, तो कई को संदेह था, जिसने एक संवाद की शुरुआत की। विशेष रूप से मासिक धर्म की समस्या वाले लोग वैकल्पिक और सुरक्षित उत्पादों की तलाश में थे, कन्नम्मा ने बताया कि उनकी मदद के लिए उनकी बहन एस राधा और सुमथी आर उनके साथ थी।

इन नैपकिन को बेहतर बनाने के लिए नीम, एलोवेरा और त्रिफला चूर्ण (जड़ी-बूटियों का मिश्रण) का उपयोग एंटी-बायोटिक एजेंट के रूप में किया जाता है। उनकी उपस्थिति मासिक धर्म के खून की दुर्गंध को कम करती है।

“कन्नम्मा ने बताया की “मैंने जल्द ही, स्कूलों में मासिक धर्म स्वच्छता के बारे में जागरूकता पैदा करना शुरू कर दिया क्योंकि यही वह जगह है जहाँ परिवर्तन हो सकता है। वहाँ, मुझे पता चला कि बच्चे बहुत संघर्ष कर रहे थे। कई लोग असुविधा के कारण नियमित पैड का उपयोग करने में असमर्थ थे तो कुछ बच्चों ने कपड़े का इस्तेमाल किया या महावारी के दौरान छुट्टी ली। छात्रों की प्रतिक्रिया के साथ, कन्नम्मा नैपकिन को और आरामदायक बनाने की कोशिश कर रही है।

उत्पाद तीन आकारों में आता है XL, XXL, और XXXL, और छह के एक पैक के लिए 150, 160 और 180 का खर्च आता है। इसका आर्डर कॉल या व्हाट्सएप के माध्यम से भी दिया जा सकता है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s