नाशिक स्टेशन पर ऑक्सिजन पार्लर।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित, संदर्भ आनंद शर्मा की जानकारी पर आधारित

यात्रियों को ताजी हवा में सांस लेने का अनुभव प्रदान करने के लिए, नासिक रेलवे स्टेशन पर एक ‘ऑक्सीजन पार्लर’ खोला गया है। यह शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण से लड़ने का एक महत्वपूर्ण कदम है जो एयरो गार्ड ने भारतीय रेलवे के सहयोग के साथ उठाया है। 

एयरो गार्ड के को-फाउंडर अमित अमृतकर ने कहा कि ऑक्सीजन पार्लर की सोच  नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) द्वारा किए गए एक अध्ययन पर आधारित है।

एएनआई को दिए एक इंटरव्यू में अमित ने कहा “1989 में, नासा ने एक अध्ययन किया था जिसमें उन्होंने कुछ पौधों की पहचान की जो हवा से पांच सबसे हानिकारक प्रदूषकों को कम करते हैं। हमने उन पौधों में से अधिकांश को यहां लगाया है। ये पौधे अपने चारों ओर 10X10 फीट के क्षेत्र में हवा को साफ कर सकते हैं। ”उन्होंने ये भी कहा, “यहां लगभग 1500 पौधे हैं, इसलिए, ये पौधे सीधे और प्रभावी रूप से रेलवे स्टेशन पर हवा में प्रदूषण को कम कर सकते हैं और लोगों को स्वच्छ हवा में सांस लेने का अनुभव प्रदान कर सकते हैं.

अंत में निष्कर्ष निकालते हुए उन्होंने कहा एयरो गार्ड का उद्देश्य हर रेलवे स्टेशन के साथ-साथ हर घर में भी इसका प्रचार बढ़ाने का है। “लोग दोस्तों और परिवारों को इनमें से एक पौधा भी उपहार में दे सकते हैं। यह इस पहल की पहुंच का विस्तार करेगा और देश भर में वायु-प्रदूषण  में सुधार करने में मदद करेगा।

वायु की स्वछता का दायित्व है हमारा,
खरीदकर ऑक्सीजन पार्लर से कुछ पौधे,
संवार दो सबका और ये अनमोल जीवन तुम्हारा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: