अपोलो अस्पताल ने कार्डियक सर्जरी को और आसान बनाया।

प्रेरणा महरोत्रा गुप्ता द्वारा लिखित, विजयलक्ष्मी नायर के द्वारा दी गयी जानकारी पर आधारित

अपोलो अस्पताल, बन्नेरघट्टा रोड, बैंगलुरु में, सर्जनों ने प्रशिक्षित सर्जनों के साथ रोबोटिक हथियारों की सहायता से 27 रोगियों पर कार्डियक सर्जरी की है।

अस्पताल का दावा है कि, भारत में यह पहली बार है कि वाल्व प्रतिस्थापन और हृदय में छेद को बंद करने के लिए कार्डियक सर्जरी करने के लिए रोबोट तंत्र का उपयोग किया जा रहा है।

अस्पताल की मानें तो रोबोटिक सर्जरी अन्य विशिष्टताओं में की जाती है, लेकिन भारत में इससे पहले इस तकनीक का इस्तेमाल कार्डियक सर्जरी में नहीं किया गया है।

डॉ सात्यकि पी नामबाला, वरिष्ठ सलाहकार, कार्डियोथोरेसिक, वस्कुलर सर्जन और एचओडी द्वारा प्रक्रियाओं का संचालन किया गया था।

दा विन्सी ज़ी  सर्जिकल सिस्टम की मदद से पहली सर्जरी 3 अगस्त, 2019 को 32 वर्षीय व्यक्ति पर की गई थी, जिसे हृदय वाल्व प्रतिस्थापन की आवश्यकता थी। डॉ नामबाला ने कहा, “सर्जरी के तीसरे दिन उन्हें छुट्टी दे दी गई और वह एक हफ्ते बाद काम पर लौट आए।”

रोबोटिक सर्जरी में, सर्जन रोबोट को नियंत्रित करता है और ऑपरेटिंग टेबल के पास कंसोल पर बैठा होता है। सर्जन तीन आयामी आवर्धित दृश्य में सर्जरी की साइट देख सकता है। सर्जन द्वारा नियंत्रित चार रोबोटिक हथियारों में से एक में सर्जिकल साइट पर ध्यान केंद्रित करने वाला कैमरा है, जबकि अन्य तीन डॉक्टर द्वारा निर्देशित हैं।

डॉ  नामबाला ने कहा, “रोबोट हथियार सर्जन की विस्तारित बाहों की तरह काम करते हैं और मानव हाथों की सीमाओं को पार करते हैं क्योंकि वे किसी भी दिशा में घूम सकते हैं और अंग के अंदर जा सकते हैं।”

“इस क्रिया के द्वारा  कम से कम रक्त की हानि होती है और कोई रक्त आधान की आवश्यकता नहीं होती है, अस्पताल में रहना आमतौर पर तीन दिनों से अधिक नहीं होता है और कम संक्रमण के साथ पुनर्प्राप्ति आसान होती है। ये पहलू सर्जरी को प्रभावी बनाते हैं, ”डॉ नामबाला ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया (टीओआई) को बताया।

छोटा हो या बड़ा, अब हृदय के रोगों से, छुटकारा जल्द ही मिल जायेगा।
जब प्रशिक्षित सर्जनों का समूह, रोबोटिक हथियारों को अपनायेगा।
गहरे से गहरा और हल्का सा, हृदय का घाव भी, अब जल्द ही भर जायेगा।
कुछ दिन ही हॉस्पिटल में बिताकर, हृदय का रोगी,अपने रोग से छुटकारा पायेगा।

One thought on “अपोलो अस्पताल ने कार्डियक सर्जरी को और आसान बनाया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: