Monthly Archives: December 2019

क्षत विक्षत आत्माएँ-जीवित भी,मृत भी

आनंद प्रकाश द्वारा लिखित यौन दरिंदे, हैवानियत, जली अधजली लाशें और क्षत विक्षत आत्माएँ-जीवित भी, मृत भी….यौन  पीड़िता कर रहीं  पल पल  यही  गुहार।जैसे भी हो  तुरत हीदेयो  दरिन्दे मार।। पर उनकी सुनता कौन है? संसद  और  विधान सभाओं में बलात्कारियों की मौजूदगी, संवेदनहींन राजनीति, दलों की  दलदल, स्वार्थ, निर्लजता और उपेक्षा के  नक्कारखानो  के  शोर में पीड़िताओं के विलुप्त होते टूटेफूटे बेबस,

Read more

भारत से डर किस को ?

इस बार मसला और भी नाजुक है भारत और मित्र देशों के बीच मतभेदों की खाई खोदने का ! संदर्भ है : स्वीडन के king Carl XVI Gustaf और Queen Silvia की भारत यात्रा ! और प्रयास है विदेशी गंदगी पर लार टपकाती मक्खियों द्वारा सामरिक व अन्य महत्त्व महत्वपूर्ण समझौतों की संभावना में पलीता लगाने का । एक विदेशी

Read more